मुशायरा::: नॉन-स्टॉप

Saturday, July 20, 2013

यही वो वाहिद प्यार है जिस में बेवफ़ाई नहीं होती eternal love


फ़ना  कर दे अपनी सारी ज़िन्दगी ख़ुदा  की मुहब्बत में 
यही वो वाहिद प्यार है जिस में बेवफ़ाई नहीं होती 

अर्थ:
वाहिद-एक 

6 comments:

अरुन शर्मा 'अनन्त' said...

नमस्कार आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (21 -07-2013) के चर्चा मंच -1313 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

Shalini Kaushik said...

very nice expression .

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बेहतरीन अशआर!

रश्मि शर्मा said...

Behtarin

DR. ANWER JAMAL said...

सबका शुक्रिया.

प्रेम सरोवर said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति। मेरे नए पोस्ट "समय की भी उम्र होती है",पर आपका इंतजार रहेगा। धन्यवाद।