मुशायरा::: नॉन-स्टॉप

Thursday, May 5, 2011

कारीगर



मैं तेरे हर हुनर से वाकिफ हूँ ;
तू कारीगर है मुझे तूने ही बनाया है .
                                       शिखा कौशिक 

6 comments:

अरूण साथी said...

सुन्दर अहसास

शालिनी कौशिक said...

vah kya kahi khoob kahi.badhai.

DR. ANWER JAMAL said...

शिखा जी ! बात तो सही है लेकिन यह तो बताइये कि यह फ़ोटो किसने लिया है ?
और यह मकान आपकी ननिहाल का है या ददिहाल का ?

शिखा कौशिक said...

ye photo hamne liya hai kintu ye photo hai aasman ka n nanihal ka n dadihal ka.

DR. ANWER JAMAL said...

आधे फ़ोटो में आसमान है तो आधे में मकान है
ऊपर तो रब है नीचे कौन पहलवान है ?

shanno said...

शिखा, बहुत खूब..''मैं तेरे हर हुनर से वाकिफ हूँ ''

अनवर भाई, नीचे भी ऊपर वाले की ही शान है :)