मुशायरा::: नॉन-स्टॉप

Tuesday, May 31, 2011

भविष्यवाणी Anwer Jamal की


नूर की एक किरन अंधेरे पर भारी होगी
रात उनकी सही लेकिन सुबह हमारी होगी

10 comments:

शालिनी कौशिक said...

aap mane n mane lekin iltiza hamari hogi,man lee aapne to theek varna aage badhne kee dhakka mari hogi.
ab jab subah aapki hogi to ye to hona lazmi hai .

DR. ANWER JAMAL said...

@ Shalini ji ! Khoob kahi aapne bhi.
asal men main out of station hun aajkal.
bas aise hi ek sher daal diya ki gair hazir n rahun .

Shukriya.

डा. श्याम गुप्त said...

वाह ! क्या भविष्यवाणी है.....और क्या कमाल की टिप्पणी है शिखा जी की.वाह!..
"दौड के इस दौर में हर चीज़ की मारा मारी होगी।
हर जगह लाइन लगी है क्यों न धक्का मारी होगी ।"

शिखा कौशिक said...

bahut khoob Anwar ji .

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

इंशा अल्लाह!

prerna argal said...

bahut badiyaa.insaa allhaa aapki iltajaa poori kare.badhaai aapko.


please visit my blog.

DR. ANWER JAMAL said...

@ प्रेरणा जी , आदरणीय शास्त्री जी , डा. गुप्ता जी और विदुषी कन्याओं आप सभी की टिप्पणियों ने अद्भुत आनंद से भर दिया है आज ।

शुक्रिया !

सलीम ख़ान said...

sahi kaha aapne

रचना said...

और फिर सब कहेगे
या इलाही ये माजरा क्या हैं ??

Vaanbhatt said...

रैना नहीं अपनी पर अपना होगा कल का सवेरा...